सीमा-सचिन की लव स्टोरी या साजिश: पूछताछ के बाद देर रात छोड़ा, अब फिर साथ ले गई UP ATS की टीम, आईबी से मिले थे अहम इनपुट

Uttarakhand Press 18 July 2023: पाकिस्तानी महिला सीमा और सचिन मीणा के पिता को पूछताछ के बाद एटीएस की टीम देर रात सचिन के घर पर छोड़कर चली गई। लेकिन आज सुबह पौने नौ बजे सीमा और सचिन के पिता को फिर से एटीएस की टीम पूछताछ के लिए साथ ले गई है। बताया जा रहा है कि सचिन को टीम ने नहीं छोड़ा था।

पबजी पार्टनर सचिन मीणा के प्यार की खातिर पाकिस्तान से चार बच्चों संग नेपाल के रास्ते भारत आई सीमा हैदर को एटीएस ( एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉयड) सोमवार को अपने साथ ले गई। एटीएस सीमा हैदर, सचिन मीणा और सचिन के पिता नेत्रपाल से पूछताछ की। हालांकि सीमा और सचिन के पिता को पूछताछ के बाद एटीएस की टीम देर रात सचिन के घर पर छोड़कर चली गई थी।

एटीएस की टीम ने सचिन को नहीं छोड़ा था। पड़ोसियों ने बताया कि मंगलवार सुबह यानि आज करीब पौने नौ बजे सीमा हैदर और सचिन के पिता नेत्रपाल समेत दोनों को एटीएस की टीम फिर से साथ ले गई। वहीं, एटीएस की टीम सीमा हैदर के दो छोटे वाले बच्चों को भी पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई है। आज भी सीमा और सचिन से पूछताछ की जा रही है। सीमा हैदर के बिना वीजा नेपाल के रास्ते भारत में आने पर 50 दिन तक रबूपुरा में रहने संबंध में गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने केंद्रीय व प्रदेश की कई एजेंसियों को पत्र लिखे थे। एटीएस शुरूआत से ही इस मामले पर नजर बनाये हुए थी।

एटीएस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि सीमा हैदर प्यार की आड़ में जासूसी या किसी गलत इरादे से तो भारत में नहीं आई है। एटीएस टीम सोमवार शाम रबूपुरा पहुंची और दरवाजा खुलवाने के बाद सचिन मीणा के घर में तीन-चार सदस्य प्रवेश कर गए। दो सदस्य गली की दोनों ओर गए।

मगर गली में मौजूद लोगों व मीडियाकर्मियों को उन्होंने अपना परिचय देते हुए बाहर भेज दिया। इसके बाद सभी सदस्य सचिन मीणा के घर से चले गए। टीम पहले सीमा हैदर, सचिन और नेत्रपाल को घर की छत पर ले गई। यहां कुछ देर वार्तालाप के बाद एटीएस टीम छत से ही तीनों को दूसरे घर की छत पर पहुंची।
इसके बाद दूसरे घर के जीने से उतरकर बराबर की पतली गली से निकलते हुए पीछे की ओर से तीनों को लेकर गाड़ी से रवाना हो गई। इसकी भनक काफी देर बाद लोगों और मीडियाकर्मियों को लगी। इसके बाद सचिन के घरवालों ने अपना दरवाजा नहीं खोला।

उन्होंने मीडियाकर्मियों और ग्रामीणों से दूरी बनाए रखी। हालांकि परिजन ने तीन दिन से सीमा हैदर से मुलाकात पर पाबंदी लगा रखी थी। तभी से ही सादा कपड़ों में पुलिसकर्मी भी सचिन मीणा की गली में लगातार निगरानी कर रहे हैं। कुछ लोग इसे बलोच डाकुओं की धमकी के बाद सीमा हैदर की सुरक्षा से जोड़कर देख रहे थे। हालांकि सीमा और सचिन को 10 घंटे से ज्यादा पूछताछ के बाद UP ATS ने छोड़ दिया।

पुलिस ही नहीं आईबी के इनपुट पर हो रही पूछताछ:
सूत्रों का कहना है कि सीमा हैदर मामले का खुलासा होने के बाद एटीएस के रडार पर है। उससे बरामद पहचान पत्र आदि हाई कमीशन को भेजे गए हैं। सीमा से पूछताछ के लिए एटीएस ने सवालों की सूची तैयार की है।
सीमा कहीं जासूस तो नहीं, उसके संबंध आईएसआई से तो नहीं या वह देश विरोधी गतिविधियों में तो लिप्त नहीं है। कुछ ऐसे सवाल के जवाब एटीएस हासिल करने का प्रयास कर रही है। हाल ही में दिल्ली से आईबी की टीम जिले में पहुंची थी और टीम ने सीमा हैदर के बारे में जांच पड़ताल की।

ये भी जानकारी मिल रही है कि आईबी के इनपुट के बाद ही एटीएस ने सीमा हैदर से पूछताछ शुरू की। सीमा एजेंसियों को न केवल सीमा हैदर के भाई के पाकिस्तान आर्मी में होने बल्कि उसके चाचा के भी आर्मी में सूबेदार होने की जानकारी मिली है। इसके अलावा एक अधिकारी ने यह भी बताया कि एटीएस डिलीट किए गए चैट रिकवर करने पर संदिग्ध बातचीत, सेटेलाइट फोन इस्तेमाल की आशंका पर भी पूछताछ कर सकती है।

नेपाल के रास्ते पाकिस्तान से भारत आ गई थी सीमा:
आपको बता दें कि पाकिस्तान के कराची निवासी सीमा हैदर और रबूपुरा के सचिन मीणा के बीच पबजी गेम खेलने के दौरान जान-पहचान हुई थी। वीडियो कॉलिंग के जरिये नजदीकियां बढ़ने के बाद सीमा 13 मई नेपाल के रास्ते पाकिस्तान से भारत आ गई थी।

चार बच्चों संग रबूपुरा पहुंची सीमा आंबेडकर नगर में किराये पर मकान लेकर सचिन के साथ रहने लगी। मामले की भनक पुलिस को लगते ही सीमा चार बच्चों और सचिन के साथ फरार हो गई। पुलिस टीम ने सभी को हरियाणा के बल्लभगढ़ से पकड़ा था। सचिन, उसके पिता नेत्रपाल और सीमा को गिरफ्तार कर बीते मंगलवार को न्यायालय में पेश किया था। न्यायालय के आदेश पर तीनों को जेल भेजा गया था। न्यायालय ने बच्चों की आयु कम होने के कारण उनकी मां सीमा के साथ जेल भेजा था। सीमा हैदर और सचिन की जमानत याचिका पर सुनवाई कर वकील उनके प्यार, चार बच्चों और सीमा की सुरक्षा का हवाला दिया। इसके बाद न्यायालय ने दोनों को जमानत दे दी थी।

Read Previous

Crime: किशोरी का अपहरण…फिर 50 हजार में बेचा, जबरन शादी कर हैवानियत की हदें पार, पढ़ें पूरा मामला

Read Next

Uttarakhand: शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए प्रदेश में जल्द होगी आठ हजार शिक्षकों की भर्ती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *