Uttarakhand: पिथौरागढ़ में हुए हादसे में छह लोगों की मौत, गहरी खाई से रेस्क्यू करके निकाले गए शव

Uttarakhand Press 26 October 2023: Pithoragarh Accident आदि कैलाश से धारचूला आते समय मंगलवार को तंपा मंदिर के पास गहरी खाई में गिरे वाहन में सवार सभी छह लोगों की मृत्यु हो गई है। मृतकों में चार आदि कैलाश यात्री बेंगलुरु हैदराबाद और दिल्ली निवासी है। चालक सहित एक अन्य व्यक्ति स्थानीय है।

आदि कैलाश से धारचूला आते समय मंगलवार को तंपा मंदिर के पास गहरी खाई में गिरे वाहन में सवार सभी छह लोगों की मृत्यु हो गई है। मृतकों में चार आदि कैलाश यात्री बेंगलुरु, हैदराबाद और दिल्ली निवासी है। चालक सहित एक अन्य व्यक्ति स्थानीय है।

मंगलवार को बोलेरो कैंपर वाहन आदि कैलाश से यात्रियों को लेकर गुंजी से धारचूला आ रहा था। धारचूला से करीब 30 किमी दूर तंपा मंदिर के पास वाहन अनियंत्रित होकर करीब एक किमी गहरी खाई में गिर गया। वाहन के परखच्चे उड़ गए थे और किसी के जीवित बचे होने की उम्मीद नहीं थी।

अंधेरा होने की वजह से रात को नहीं हो सका रेस्क्यू
मंगलवार को अंधेरा होने और खड़ी चट्टान तथा मौसम के प्रतिकूल होने से रात को रेस्क्यू संभव नहीं हो सका। बुधवार सुबह कोतवाली धारचूला, थाना पांगला पुलिस, हाईवे पेट्रोल पुलिस यूनिट, फायर बिग्रेड यूनिट धारचूला, एसडीआरएफ, सीमा सशस्त्र बल (एसएसबी) और भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) की टीमों ने संयुक्त रूप से रेस्क्यू आपरेशन शुरू किया।

टीम ने खड़ी चट्टान से होते हुए नदी किनारे तक पहुंचकर शवों को निकालकर सड़क तक पहुंचाया।

इनर लाइन परमिट से मृतकों के नाम व पते की पुष्टि:
आदि कैलाश जाने वाले यात्रियों को इनर लाइन परमिट जारी होता है। साथ ही आइटीबीपी के चेक पोस्ट पर भी रिकार्ड रखा जाता है।

परमिट के अनुसार मृतकों में 40 वर्षीय सत्यब्रत परिदा निवासी बेंगलुरु (कर्नाटक), 58 वर्षीय नीलाला आनंद लोकेश कुमार निवासी हैदराबाद (तेलंगाना), 48 वर्षीय महेश चंद्र मिश्रा निवासी फ्लैट नंबर वन टाइप-एन एसयूटी कैंपस, सेक्टर-तीन द्वारका (नई दिल्ली), 52 वर्षीय प्रज्ञा निवासी 84 डीडीए फ्लैट्स, साउथ वेस्ट दिल्ली आदि कैलाश यात्रा पर गए थे।

उनके साथ वाहन चालक पिथौरागढ़ निवासी 24 वर्षीय हिमांशु कुमार और 39 वर्षीय वीरेंद्र कुमार थे। रविवार को चारों लोग आदि कैलाश पहुंचे थे और मंगलवार को लौट रहे थे।

Read Previous

ट्यूशन टीचर के भाई ने प्रेमजाल में फंसाकर छात्रा से बनाए संबंध… चार माह की गर्भवती होने पर किया घिनौना काम

Read Next

Kedarnath Dham: 15 नवंबर को बंद हो रहे हैं धाम के कपाट,एक दिन में ही केदारनाथ हेली सेवा की बुकिंग हुई फुल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *