कृष्ण भक्त ‘फरहाना’ ने सरस्वती बन की शादी, वीरेंद्र के लिए तोड़ीं बंदिशें, बोली- हिंदू बन बिताना है जीवन

Uttarakhand Press 28 July 2023: फरहाना ने बताया कि वह बालिग हैं और मर्जी से धर्म परिवर्तन कर विवाह किया है। बचपन से ही भगवान कृष्ण में उसकी आस्था है और वह आगे का जीवन हिंदू के तौर पर बिताना चाहती है।

बरेली के शेरगढ़ इलाके की फरहाना बचपन से कान्हा की भक्त है। पारिवारिक बंदिशों के चलते वह कभी इसका इजहार नहीं कर सकी। कुछ समय बाद उसके जीवन में वीरेंद्र कश्यप नाम के युवक की एंट्री हुई। फिर उसने सारी बंदिशें तोड़ दीं। धर्म परिवर्तन कर उसने वीरेंद्र के साथ विवाह कर लिया। इधर, शेरगढ़ में फरहाना के परिजनों ने रिपोर्ट दर्ज करा रखी है। फरहाना ने उनसे खतरा जताया है।

गहलौरा गांव की फरहाना आठवीं तक पढ़ी हैं। उसने बताया कि घरवालों ने इसके बाद उसकी पढ़ाई बंद करा दी। चार साल पहले गांव निवासी वीरेंद्र से उसकी जान-पहचान हुई। दोनों की मोबाइल फोन पर बात होने लगी। कुछ समय पहले दोनों ने साथ में जिंदगी बिताने का फैसला कर लिया। घर से निकलकर शहर आए। प्रेमी युगल की मुलाकात हिंदूवादी नेता हिमांशु पटेल से हुई।

हिमांशु की मदद से फरहाना ने एक मंदिर में धर्म परिवर्तन कर वीरेंद्र से विवाह कर लिया। फरहाना ने बताया कि वह बालिग हैं और मर्जी से धर्म परिवर्तन कर विवाह किया है। बचपन से ही भगवान कृष्ण में उसकी आस्था है और वह आगे का जीवन हिंदू के तौर पर बिताना चाहती है। वीरेंद्र से विवाह करके उसे तीन तलाक या हलाला का डर नहीं रह गया है। बताया कि उनके घरवालों ने शेरगढ़ थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी है, पर उम्मीद है कि कानून उसके साथ इंसाफ करेगा।

Read Previous

Accident: अज्ञात वाहन ने एम्बुलेंस को मारी टक्कर, वृद्धा और तीन बेटियों की मौत, चौथी की हालत गंभीर

Read Next

हल्द्वानी: नौकरानी पर था शक तो घर में लगा दिया हिडन कैमरा, नौकरानी ने डॉक्टर दंपति के घर से चुराए 11 लाख रुपये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *